Home | A-Search | Subjects | Get News | Authors | Download

1857 Ka Pratham Swatantrya Samar Aur Hindi Lekhan (Hardback)

List Price : र 695.00 र 556.00
Stock Enquiry
Discount : र 139.00 20.00% off
*GET FREE SHIPPING ON ALL PRE-PAID ORDER OF INR 1000.00 & ABOVE.
*Applicable only for India. Price may be revised by the publisher.
*Cash-on-Delivery Standard and Premium pincode list. Please check your pincode in given standard list first before order.

1857 Ka Pratham Svatantray Samar Aur Hindi Kavya INR 556.00

Book summary

सन् 1857 की प्रथम जनक्रान्ति से समर्पित अथाह सामग्री और अनेक ग्रन्धों का सारभूत नवनीत इस एक ग्रन्थ में जागर में सागर' की तरह समेट कर रख दिया गया है । विषय के साथ पूरा न्याय करने वाले इस ग्रन्थ में बादशाह बहादुरशाह ज़फ़र है उनके परिवार और काव्य के बरि में हिन्दी में पाती बार अछूती सामग्री पेश की नाई है । इस ग्रन्थ से हिन्दी के प्रतीत संसार को ज्ञान की अभूतपूर्व रश्मियों में पावन गंगा स्नान कांसा सुख तो मिलेगा ही, साथ ही इस शब्दन्ताधना से देशभक्ति और राष्टीय कर्त्तव्यों के प्रति उन्मुख हो कर भऱरतमात्ता के लिए मर मिटने की ललक जगा कर यह ग्रन्थ मानो सोने पर सुहागे का-सा काम करता है । कविहृदय डॉ॰ भावुक की कारयित्री और भावयित्री प्रतिभा दोनों ही इस प्रासंगिक और सामयिक महत्त्व के समीक्षा-ग्रन्थ में युगपत् विद्यमान है । देशभक्ति का वेश्चिक रस छलकने वाला यह ग्रंथ प्रत्येक निजी, सार्वजनिक और शैक्षणिक पुस्तकालयों के लिए संग्रहणीय कहा जा सकता है । यह प्रबुद्ध लेखक हर देशभक्त को अपने अन्तरतम में हर समय यहीं शेर कहते हुए पाता है - "साथियों ! बुझने न पाए ये मंज़िलें दारो-रसन, मेरे ही सर की ज़रूरत है, तो सर देता हूँ मैं !"

Book Details

1857 के प्रथम स्वातन्त्रय समर और हिंदी लेखन

Author
Dr. Krishna Bhavuk
KKBN #
A000-AA-A065
Year
2009
Language
Hindi
Binding
Hardcover
Pages, Ills etc.
320pp
Related Books
Written/Edited by 'Dr. Krishna Bhavuk'
Written in Language 'Hindi'
Books on 'Hindi Literature'
Books on 'History'
Books on 'Hindi Literature'
Books on 'History'
Books on 'Hindi Literature'
Books on 'History'
Books on 'Hindi Literature'
Books on 'History'
Books on 'Hindi Literature'
Books on 'History'
Books on 'Hindi Literature'
Books on 'History'
Publishing Year is '2009'

1857 Ka Pratham Swatantrya Samar Aur Hindi Lekhan (Hardback) Book Review

Testimonials
We accept all major Credit/Debit/ATM Cards, COD (Cash-on-Delivery), Cheque/Demand Draft, Netbanking, Paypal and also ensures that your online purchase must be troublefree and secure.
Home | About Us | Publishers | Book Sellers | Subjects | Help